7 संकेत जो बताएंगे आप हो चुके हैं हैकिंग के शिकार

  • Posted on: 10 July 2018
  • By: admin
नई दिल्ली। आज के समय ज्यादातर महत्वपूर्ण ट्रांजैक्शंस इंटरनेट पर ही होते हैं। इस हाईटेक, डिजिटल युग में चीजें आसान हुई है, लेकिन इसने जोखिम भी पैदा किया है। हमारा पर्सनल डेटा सीधे साइबर क्रिमिनल्स और हैकर्स के निशाने पर आ गया है। हैकर्स ने अहम डाटा चुराने और उसका गलत इस्तेमाल करने के लिए कई तरीके ईजाद किए हैं। इसलिए आपको आपके सिस्टम पर नजर रखना होगी कि कहीं ये हैक तो नहीं हो गया। यहां जानिए ऐसे 7 संकेत जो कि बताते हैं कि आपका सिस्टम हैक हो चुका है।
धीमा पड़ जाता है गैजट
मलिशस सॉफ्टवेयर के दुष्प्रभावों में से एक है गैजट का धीमा पड़ जाना। सॉफ्टवेयर सुस्त हो जाता है या लगातार फ्रीज होता है, या क्रैश होता है। अगर इनमें से आपको कोई भी लक्षण नजर आते हैं, तो आपको गैजट वायरस, ट्रोजन या वर्म्ज से संक्रमित हो सकता है। मलिशस सॉफ्टवेयर आमतौर पर बैकग्राउंड में चलता है, गुप्त रूप से आपके गैजट के संसाधनों को नष्ट करता है।
आप सामान्य से अधिका डाटा उपयोग कर रहे हैं
हर इंटरनेट प्रोवाइडर के पास टूल्स होता है जो कि आपके मासिक बैंडविड्थ कंजप्शन का ट्रैक रख सकते हैं। अपने प्रोवाइडर के आधार पर डाटा यूसेज मीटर या डाटा मॉनिटर देखें। पिछले महीनों में उपयोग किए गए डाटा की मात्रा से तुलना करें और बिना कोई पैटर्न में बदलाव करने के बाद अगर आप डाटा एक्टिविटी में अचानक बढ़ोत्तरी देखते हैं तो संभावना है कि आप संक्रमित है। उदाहरण के लिए, एडवेयर इंफेक्टेड गैजट्स आमतौर पर साइबर अपराधियों के लिए लाभ पैदा करने के लिए पृष्ठभूमिा में अनचाहे क्लिक करते हैं। ये चुपके से होने वाली रणनीति बैंडविड्थ और अनधिकृत डाटा यूज करती है।
वीडियो अचानक बफर करता है और वेबपेजेस लोड होने में समय लेता है
जब एक स्ट्रीमिंग वीडियो अचानक फ्रीज हो जाता है और आपका डिवाइस बफरिंग शुरू कर देता है। ये चीज हमेशा होती है, विशेष रूप से अगर आप ज्यादा वीडियो प्ले करतेहैं या आपका वाई-फाई कनेक्शन कमजोर है। अगर यह कई बार हो रहा है या वीडियो बिलकुल भी प्ले नहीं हो रहा है तो आप यह समझ जाएंगे कि आपका पड़ोसी आपका कनेक्शन यूज कर रहा है। फिर मालवेयर डीएनएस हाईजैकिंग से इंटरनेट ट्रैफिक को धीमा कर सकता है। संक्षेप में, हैकर्स आपके इंटरनेट ट्रैफिक को सिक्योर सर्वर्स की बजाए अनसेफ सर्वर्स को रीडायरेक्ट कर सकते हैं। यह आपके ब्राउजिंग एक्सपीरियेंस को धीमा ही नहीं करेगा, यह एक गंभीर सिक्योरिटी रिस्क भी है।
प्रोग्राम और ऐप्स क्रैश होना शुरू हो जाएं 
अब, यह स्पष्ट संकेत है कि आपका सिस्टम संक्रमित हो गया है। अगर आपका एंटीवायरस सॉफ्टवेयर या टास्क मैनेजर कैश या डिसएबल हो रहा है तो एक बुरे वायरस ने महत्वपूर्ण सिस्टम फाइल्स को पकड़ लिया है।
आप सेफ मोड में आपके गैजट बूट करते हुए समस्या को ठीक करने की कोशिश कर सकते हैं। सेफ मोड में, आपका कम्प्यूटर जरूरी चीजों के साथ चल रहा होगा। इस तरीके से आप कोई भी प्रोग्राम्स और फाइल्स सुरक्षित रूप से डिलीट और अनइंस्टॉल कर सकते हैं जो कि आप नॉर्मल ऑपरेशन के दौरान नहीं कर सकते हैं।
आपको पॉप-अप एड्स दिखने लगे
मालवेयर बुकमार्क्स एड कर सकते हैं जो कि आप नहीं चाहते, होम स्क्रीन पर वेबसाइट शॉर्टकर्ट्स जो कि आपने क्रिएट नहीं किया हो और स्पेमी मैसेजेस जो कि आपको क्लिक करने के लिए उकसाते हैं। गैजट को धीमा करने और डाटा कंजप्शन के अलावा, ये घुसपैठी नोटिफिकेशन आपके सिस्टम पर ज्यादा मालवेयर इंस्टॉल कर सकते हैं। अपराधी ब्राउजिंग के समय दिखने वाले एड को मोडिफाई करने के लिए डीएनएस हाईजैकिंग भी यूज कर सकते हैं। जो एड्स आपको नियमित रूप से दिखते हैं, उसे अनुचित या मलिशस एड्स से रिप्लेस किया जा सकता है।
आपका गैजट अचानक फिर स्टार्ट हो जाए
ऑटोमैटिक रीस्टार्ट्स सामान्य कम्प्यूटर के काम का हिस्सा है। सॉफ्टवेयर अपडेट्स या नया एप्लीकेशन इंस्टॉल होने पर आपका कम्प्यूटर रीबूट हो सकता है। आपका सिस्टम चेतावनी देगा जब ऐसा होगा और आप उसे डिले या पोस्टपोन कर सकते हैं। वहीं अचानक रीस्टार्ट की अपनी कहानी है। विंडोज 10 के साथ, फ्री मालवेयर डिलीशन और एक्सट्रेक्शन प्रोग्राम होता है जिसे माइक्रोसॉफ्ट विंडोज मलिशस सॉफ्टवेयर रीमूवल टूल कहते हैं।
अस्पष्ट ऑनलाइन एक्टिविटी 
हैकर्स आपके यूजरनेम और पासवर्ड्स चाहते हैं। सोशल इंजीनियरिंग ट्रिक्स के साथ ये डिटेल्स आपके बैंकिंग अकाउंट्स, सोशल मीडिया प्रोफाइल्स और ऑनलाइन सर्विसेस का एक्सेस पा सकता है।
अपने ई-मेल के स्द्गठ्ठह्ल फोल्डर और आपके सोशल नेटवर्क पोस्ट्स पर नजर रखें। अगर आप ऐसे ईमेल्स और पोस्ट्स नोटिस करते हैं जो कि आपको याद नहीं कि आपने पोस्ट या सेंड की थी तो समझ जाइए हैकिंग हो चुकी है।
Category: