शुल्क लगाने की धमकी के बीच अमेरिका से सोयाबीन की खरीद घटा रहा है चीन

  • Posted on: 10 May 2018
  • By: admin

वॉशिंगटन। अमेरिका और चीन के बीच जारी प्रशुल्क युद्ध के बीच चीनी खरीदार अमेरिकी सोयाबीन के आयात के आर्डर रद्द कर रहे हैं। यदि यह सिलसिला जारी रहता है तो इससे अमेरिकी किसानों को काफी नुकसान हो सकता है। इसी के साथ चीन के किसानों को अधिक सोया उत्पादन के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है , जिससे अमेरिका से आयात में कमी की भरपाई हो सके। चीन ने अमेरिकी से आने वाली जिन 50 अरब डॉलर की चीजों पर प्रशुल्क बढ़ाने का निर्णय किया है उसमें सोयाबीन भी है। चीन ने चेताया है कि यदि अमेरिका द्वारा चीन के उत्पादों पर शुल्क लगाया जाता है तो तो वह भी 25' का प्रशुल्क लगाएगा।
चीन के निर्यात पर अमेरिकी शुल्क इस महीने लागू हो सकते हैं। उसके जवाब में भी शुल्क लगा सकता है। अमेरिका से चीन को सोयाबीन की खेप पहुंचने में करीब एक महीने का समय लगता है। अभी चीन को जो खेप जा रही है , उसके भी पहुंचने तक उस पर प्रशुल्क लागू हो सकता है। कृषि शोध एवं सलाहकार कंपनी एगरिसोर्स के अध्यक्ष डैन बासे ने कहा कि चीनी के लोग अमेरिका से सोयाबीन की खरीद करने के इच्छुक नहीं हैं क्योंकि उन पर 25' शुल्क की तलवार लटक रही है। चीन परंपरागत रूप से दक्षिण अमेरिकी देशों ब्राजील और अर्जेंटीना से गर्मियों की शुरूआत में सोयाबीन खरीदता है। सर्दियों की शुरूआत के समय वह अमेरिका से सोयाबीन का आयात करता है। अमेरिका के कुल सोयाबीन उत्पादन का करीब 60 प्रतिशत चीन को निर्यात किया जाता है।

Category: