विश्वेन्द्र सिंह ने प्रभु श्रीनाथजी के दर्शन किए, कृष्णा सर्किट के कार्यों का लिया जायजा

  • Posted on: 10 June 2019
  • By: admin
जयपुर। शिक्षा के क्षेत्र में विद्यालयों के शैक्षिक, सहशैक्षिक एवं भौतिक विकास हेतु सहयोग देने वाले लगभग 150 भामाशाहों तथा प्रेरकों को 28 जून को बिड़ला ऑडिटोरियम में आयोजित होने वाले प़च्चीसवें राज्यस्तरीय भामाशाह सम्मान समारोह-2019 में सम्मानित किया जाएगा। प़च्चीसवें राज्यस्तरीय भामाशाह सम्मान समारोह-2019 के सफल आयोजन एवं सुचारू व्यवस्था हेतु गठित राज्यस्तरीय समिति की समीक्षा बैठक सोमवार को समिति के अध्यक्ष प्रमुख शासन सचिव, स्कूल शिक्षा डॉ. आर. वेंकटेश्वरन की अध्यक्षता में सचिवालय स्थित उनके कार्यलय कक्ष में आयोजित की गई।
प्रमुख शासन सचिव ने राज्यस्तरीय भामाशाह सम्मान समारोह-2019 में इस बार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती होने के उपलक्ष्य में महात्मा गांधी के जीवन के विभिन्न पहलुओं से सम्बधित पुस्तकें भी भामाशाहों को प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह के साथ दिए जाने के सम्बन्ध में चर्चा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
उन्होंने समारोह का सफलतापूर्वक आयोजन किए जाने के सम्मन्ध में सभी तैयारियों को समय में पर पूरा किए जाने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। 
समिति के सदस्य सचिव एवं निदेशक प्रारंभिक शिक्षा बिकानेर ओम कसेरा, सदस्य एवं निदेशक माध्यमिक शिक्षा बिकानेर नथमल डिडेल,शासन संयुक्त सचिव हरजी लाल अटल, संयुक्त निदेशक स्कूल शिक्षा जयपुर संभाग जयपुर रतन सिंह यादव, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक ललित माथुर, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक समग्र शिक्षा अभियान, जयपुर की उपस्थिति में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। समीक्षा बैठक में प़च्चीसवें राज्यस्तरीय भामाशाह सम्मान समारोह-2019 के सफल आयोजन के सम्बन्ध में भामाशाहों को प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह दिए जाने तथा प्रेरकों को प्रमाण पत्र, समारोह के आयोजन स्थल बिड़ला ऑडिटोरियम, सांस्कृतिक कार्यक्रम, मंच संचालन, भामाशाहों तथा प्रेरकों को ठहराने के बिन्दुओं सहित विभिन्न बिन्दुओं पर चर्चा की गई।
Category: