विश्वविख्यात उद्घोषक जसदेव सिंह को भावभीनी श्रद्धांजली

  • Posted on: 10 October 2018
  • By: admin

जयपुर। ये  और ऐसी न जाने कितनी पंक्तियों के रचयिता महान उद्घोषक जसदेव सिंह को जयपुर में गीता बजाज बाल मंदिर संस्थान के गीता-गिरिधर सभागार में भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई। रागी जत्थे ने गुरबाणी का पाठ कर पूरे वातावरण को भक्ति भाव से ओत-प्रोत कर दिया। इसके बाद तो पूरा सभागार जसदेव सिंह के धीर-गंभीर वाणी समुद्र में गोते लगाता रहा।
पद्मभूषण, ओलंपिक ऑर्डर और राजस्थान रत्न सहित कई सम्मानों से नवाजे जा चुके जसदेव सिंह की मेरी आवाज ही मेरी पहचान है, प्रस्तुति में - लाल किले की प्राचीर से लेकर ओलंपिक में भारत के हॉकी मैचों का आंखों देखा हाल और दूसरी उद्घोषणाओं ने वो अतीत जीवंत कर दिया, जिसकी गवाह भारत की कम से कम दो पीढिय़ां तो रही ही हैं। जसदेव सिंह को अपना बड़ा भाई मानने वाले नायाब उद्घोषक अमीन सायानी ने अपने रिकॉर्डेड संदेश में सुनहरी यादें ताजा कीं। अंत में जसदेव सिंह के सुपुत्र गुरुदेव सिंह ने सब का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जीवन भर अपनी आवाज से जनमानस में उत्साह का संचार करने वाले व्यक्ति के पुण्य स्मरण को शोकाभिव्यक्ति का अवसर बनाना उचित नहीं होगा। कार्यक्रम का संचालन जसदेव सिंह के भांजे जसविंदर सहगल ने किया।

Category: