राज्य सूचना आयुक्त चन्द्रमोहन मीणा हुए सेवानिवृत

  • Posted on: 10 April 2019
  • By: admin
जयपुर। राज्य सूचना आयुक्त श्री चन्द्रमोहन मीणा को उनकी सेवानिवृत्ति के अवसर पर बुधवार को भावभीनी विदाई दी गई।  राज्य सूचना आयुक्त श्री आशुतोष शर्मा ने श्री मीणा के कार्यकाल के दौरान काम के प्रति उनकी लगन और निष्ठा के बारे में बताते हुए कहा कि जब श्री मीणा की आयोग में नियुक्ति हुई थी उस समय अपीलों की पेंडेंसी बहुत अधिक थी। उनके लगभग साढ़े तीन वर्ष के सेवाकाल के दौरान आयोग द्वारा कुल 40 हजार अपीलों पर सुनवाई हुई।
जिसमें से उन्होंने अकेले लगभग 16 हजार अपीलों की सुनवाई की है। उन्होंने कहा कि श्री मीणा ने अपने सेवाकाल में अपनी लगन शीलता, सेवा के प्रति लगाव एवं स्वयं के अन्तर्मन से कार्य करने की इच्छा भावना से अपने सहकर्मियों पर अमिट छाप छोड़ी है। इस अवसर पर चन्द्रमोहन मीणा ने कहा कि हर काम की अपनी कुछ चुनौतियां होती हैं। कार्य के प्रति लगन और नवाचारों के माध्यम से हम प्रत्येक चुनौती का सामना कर सफल हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि सूचना आयुक्त के तौर पर काम करते हुए उनके सामने सबसे बडी चुनौती प्रकरणों का निपटारा समय-बद्ध तरीके से करना था, जिसके लिए उन्होंने हर सम्भव प्रयास किया। उन्होंने कहा कि फैसले में देरी से उस फैसले की अहमियत कम हो जाती है। उन्होंने कहा कि किसी भी संस्थान में काम करने वालों की दक्षता को बनाए रखना और काम में पारदर्शिता रखना सबसे अधिक आवश्यक है। इससे पहले श्री मीणा को शॉल ओढ़ाकर, साफा व माला पहनाकर, पुष्पगुच्छ तथा स्मृतिचिन्ह भेंट कर उनका स्वागत किया गया। 
इस अवसर पर राज्य सूचना आयुक्त श्री लक्ष्मण सिंह, श्री राजेन्द्र प्रसाद बरबड़ तथा आयोग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।
Category: