यहां पहली बार मतदाता बनिए, सरकार से दस हजार लीजिए

  • Posted on: 10 February 2019
  • By: admin
धनबाद। एक से डेढ़ महीने के भीतर लोकसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो जाएगी। इससे पहले भाजपा सरकार ने झारखंड की गरीब युवतियों को ऑफर दिया है कि 18 साल का होने पर मतदाता बनने पर तत्काल 10 हजार रुपये दिए जाएंगे। मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड और बैंक खाता की छायाप्रति के साथ बाल विकास परियोजना पदाधिकारी के यहां आवेदन देना होगा। सीधे बैंक में रकम चली जाएगी। मुख्यमंत्री सुकन्या योजना में यह व्यवस्था की गई है।
लोकसभा चुनाव में उतरने के बाद झारखंड की भाजपा सरकार कोई मास्टर स्ट्रोक खेलना चाहती थी। ऐसी योजना, जिसमें कुछ न कुछ चुनावी फायदा की गारंटी हो। 2011 से शुरू की गई मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना का नाम बदलकर तीन जनवरी को मुख्यमंत्री सुकन्या योजना कर दिया गया।
इसमें बच्ची के जन्म से लेकर अलग-अलग कक्षा की पढ़ाई करने से लेकर मतदाता बनने तक सात चरणों में अनुदान राशि देने की व्यवस्था की गई। खास बात यह है कि योजना के किसी भी चरण में अनुदान के लिए आवेदन देने का प्रावधान है। इसी के तहत 18 से 20 साल की युवती मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने के बाद आवेदन दे सकती है। अगर मतदाता सूची में पहली बार नाम दर्ज हुआ है तो भी आवेदन दे सकती हैं।
मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के उद्देश्य व्यापक हैं। बिटिया के जन्म के बाद उसकी शिक्षा के लिए सहायता राशि देने की व्यवस्था है। मकसद यह है कि रुपये के अभाव में शिक्षा नहीं रुके। सरकार चाहती है कि लोकतंत्र का भी ज्ञान हो। इसके लिए मतदाता सूची में तुरंत नाम दर्ज कराने को प्रोत्साहित किया गया है।
-डॉ. अमिताभ कौशल, सचिव, समाज कल्याण विभाग
Category: