प्रदूषण का भूगोल

  • Posted on: 10 March 2019
  • By: admin
दुनिया के दस सबसे प्रदूषित शहरों में सात भारत के हैं, यह खबर जितना डराती नहीं है, उससे कहीं ज्यादा परेशान करती है। डराती इसलिए नहीं है कि अब हम कहीं न कहीं यह स्वीकार कर चुके हैं कि जब भी कहीं दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों का जिक्र होगा, उसमें भारत के चंद शहरों का जिक्र न हो, यह हो नहीं सकता। कहीं न कहीं हमने और इन शहरों ने अब प्रदूषण को अपनी नियति मान लिया है।
इन शहरों में रहने वाले भी इसे अपनी मजबूरी मानकर स्वीकार कर चुके हैं। लेकिन इस पर परेशान होने के कारण बहुत सारे हैं। एक तो जब हम कहते हैं कि इसमें कोई नई बात नहीं है, तो इसका यह भी अर्थ होता है कि हमने अपने हथियार डाल दिए हैं और फिलहाल हमारे पास कोई ऐसा समाधान नहीं है, जिससे बड़ी उम्मीद बांधी जा सके। यह चिंता की बात जरूर है कि प्रदूषण हमारे नागरिकों को बीमारियां बांट रहा है, कुछ की तो जान भी ले रहा है, लेकिन इससे भी कहीं बड़ी चिंता की बात यह है कि बीमार होने वाले और मरने वालों के ये आंकड़े हर साल नियमित तौर से आते हैं, लेकिन फिलहाल तो ये सारी चीजें भी हमें समाधान खोजने के लिए मजबूर करते नहीं दिख रहीं। अब एक नजर डालते हैं प्रदूषित शहरों की इस फेहरिस्त से उभर रहे भूगोल पर। दुनिया के छह सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में जो पांच भारतीय शहर हैं, वे दिल्ली के आस-पास के शहर हैं- गुडग़ांव, गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा और भिवाड़ी। प्रदूषण के साथ ही यह इलाका देश में आबादी, उसके घनत्व और सड़कों की भीड़ का सबसे बड़ा केंद्र भी है। दिलचस्प बात यह है कि दक्षिण और पश्चिम के वे शहर इस फेहरिस्त में नहीं हैं, जहां पिछले कुछ समय से औद्योगिक विकास सबसे ज्यादा हो रहा है। दस सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में लखनऊ और पटना के नाम का शामिल होना भी यही बताता है कि शहरों का प्रदूषण सिर्फ औद्योगिक विकास का मामला नहीं है। इस पर एक गहन अध्ययन की जरूरत है कि ये शहर इतने ज्यादा क्यों प्रदूषित हो रहे हैं- अपने आबादी घनत्व की वजह से, बढ़ती गाडिय़ों की वजह से, सड़कों के ट्रैफिक जाम की वजह से या फिर निर्माण कार्यों से उड़ती धूल धक्कड़ से। इस फेहरिस्त में तीसरे नंबर पर जो शहर है, उस पर भी ध्यान देना जरूरी है। वह है पाकिस्तान का फैसलाबाद। औद्योगिक विकास के मामले में इस शहर को कभी गुडग़ांव या नोएडा की तरह नहीं गिना जाता, लेकिन प्रदूषण के मामले में यह उनको टक्कर दे रहा है।
 
Category: