जिलों में खुलेगी नन्दी गौशाला, मिलेंगे 50 लाख रुपए

  • Posted on: 10 June 2018
  • By: admin
जयपुर। सहकारिता एवं गोपालन मंत्री अजय सिंह किलक ने शुक्रवार को बताया कि प्रत्येक जिले में खोली जाने वाली एक.एक नन्दी गौशाला के लिये 50.50 लाख रुपये तक की राशि दी जायेगी। यह राशि 70 रू 30 अनुपात में उपलब्ध कराई जायेगी। किसानों को मिलेगा फायदा-उन्होंने बताया कि राशि का उपयोग नन्दी गौशाला की मूलभूत सुविधाओं जैसे. गौआवासए चारा ठाण, पानी की खेलीए, गोपालक आवास आदि के लिये किया जायेगा। इस निर्णय से जिलों में निराश्रित गौवंश को आश्रय मिलेगा, किसानों की फसलें नुकसान से सुरक्षित रह पायेंगी एवं गौवंश को बेहतर जीवन की सुविधायें भी उपलब्ध होंगी।
एक नन्दी गौशाला में होंगे 500 नन्दी गौवंश-किलक ने बताया कि प्रत्येक नन्दी गौशाला में कम से कम 500 नन्दी गौवंश रखना अनिवार्य होगा तथा पहले वर्ष में न्यूनतम आवश्यक सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए किये जाने वाले निर्माण कार्यों एवं सुविधाओं के विकास की सूची व लागत का विवरण तैयार कर जिला कलक्टर को प्रस्तुत करना होगा। कलक्टर करेंगे संचालन संस्था का चयन-उन्होंने बताया कि जिले में निराश्रित एवं असहाय नर गौवंश की समस्या की अधिकता वाले क्षेत्रों का चिह्नीकरण किया जायेगा। जिला कलक्टर भूमि की उपलब्धता को ध्यान में रखकर स्थानीय भामाशाहए दानदाता, समाजसेवी, धार्मिक ट्रस्ट, औद्योगिक संस्थान एवं अन्य संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर नन्दी गौशाला के संचालन के लिये उपयुक्त संस्था का चयन करेंगे। जिला कलक्टर को नन्दी गौशाला के भूमि आवंटन के लिये आवेदन करना होगा।
Category: