चुनावी साल में गुजरात का बजट पेश, कोई नया कर नहीं

  • Posted on: 25 February 2017
  • By: admin

गांधीनगर। गुजरात की भाजपा सरकार ने चुनावी वर्ष में लोकलुभावन बजट पेश किया है। इसमें कई तरह की सामाजिक पहल की पेशकश की गई हैं। बजट में किसी नए कर का प्रस्ताव नहीं है। वित्त मंत्री नितिन पटेल ने मंगलवार को विधानसभा में 2017-18 में कुल 1,72,179 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। यह पिछले साल की तुलना में 20,327 करोड़ रुपये अधिक है।

उन्होंने कहा कि बजट में कुल अधिशेष 239.16 करोड़ रुपये तथा राजस्व अधिशेष 6,065.60 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है। कर के मोर्चे पर पटेल ने सूचित किया कि बजट में किसी तरह की बढ़ोतरी का प्रस्ताव नहीं किया गया है, विशेषरूप से मूल्यवर्धित कर (वैट) में क्योंकि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का जल्द क्रियान्वयन होने वाला हैं। कुल 1,72,179 करोड़ रुपये के परिव्यय में से 1,03,498.49 करोड़ रुपये विकास खर्च और 66,969 करोड़ रुपये गैर विकास व्यय के लिए आवंटित किए गए हैं।

विकास के लिए खर्च में से कृषि सिंचाई तथा ग्रामीण विकास के लिए सबसे अधिक 21.88 प्रतिशत का आवंटन किया गया है। शिक्षा और खेल के लिए 21.17 प्रतिशत, जलापूर्ति, आवास और शहरी विकास के लिए 16.72 प्रतिशत तथा ऊर्जा, उद्योग और खनिज क्षेत्र के लिए 10.42 प्रतिशत का आवंटन किया गया है।

Category: