औद्योगिक विकास, निवेश व रोजगार सृजन की तय होगी प्राथमिकताएं, बनेगी समयवद्ध कार्य योजना: डॉ. सुबोध अग्रवाल

  • Posted on: 25 December 2018
  • By: admin
जयपुर। अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा है कि प्रदेश के समग्र औद्योगिक विकास, निवेश आकर्षण और रोजगार सृजन के लिए प्राथमिकताएं सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को समयवद्ध कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए। अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. अग्रवाल। यहां उद्योग भवन मे प्रमुख शासन सचिव श्री आलोक और आयुक्त डॉ. कृृष्णा कांत पाठक के साथ उद्योग विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की समीक्षा बैठक ले रहे थे।
गौरतलब है कि तीनों ही अधिकारियों ने एक दिन पहले ही अपने नए पदों का कार्यभार संभाला है। डॉ. अग्रवाल ने कहा कि राज्य सरकार के जनसंवाद घोषणा पत्र और अन्य बिन्दुओं को चिन्हित करते हुए अल्पकालीन और दीर्घकालीन कार्य योजना बनाई जाएगी ताकि समयवद्ध क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जा सके।
प्रमुख शासन सचिव एमएसएमई श्री आलोक ने अधिकारियों से माइण्डसेट चेंज करने पर जोर देते हुए कहा कि विभाग और औद्योगिक संघों के साथ पारस्परिक सहयोग व संवाद कायम होना चाहिए ताकि प्रदेश के औद्योगिक विकास को गति देते हुए बेहतर औद्योगिक माहौल तैयार किया जा सके। आलोक ने कहा कि राज्य के उद्योगों का सेक्टरवाइज डेटाबेस तैयार करते हुए निवेश व औद्योगिकरण की नई संभावनाएं तलाशनी होगी।
आयुक्त उद्योग डॉ. कृृष्णा कांत पाठक ने कहा कि विभाग द्वारा नई सरकार की प्राथमिकताओं को देखते हुए क्रियान्वयन के बिन्दु चिन्हित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बदलते आर्थिक सिनेरियों को देखते हुए प्रक्रिया के सरलीकरण और सेवाओं के डिलीवरी सिस्टम को मजबूत किया जाएगा।उन्होंने कहा कि हमारा अंतिम लक्ष्य लक्षित तक सहजता से सेवाएं पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि इसके लिए टीम भावना से कार्य करते हुए औद्योगिक विकास को गति दी जाएगी।
बैठक में अतिरिक्त निदेशक श्री पीके जैन, वित्तीय सलाहकार श्री हरी सिंह, संयुक्त निदेशकों में श्री संजीव सक्सैना, श्री एसएस शाह, श्री सीएल वर्मा, श्री संजय मामगेन, डीएलआर श्री अशोक गुप्ता, उपनिदेशकों में श्री चिरंजी लाल, श्री केके पारीक, श्री रवीश कुमार, निधि शर्मा, सहायक निदेशक श्री रश्मिकांत नागर, श्री रवि गुप्ता, श्री केएल स्वामी, जिला उद्योग अधिकारियों में श्री संजय जैन, अनिल जैन, सविता केजरीवाल आदि उपस्थित थे।
Category: