एनपीए में उछाल से देना बैंक को पहली तिमाही में 722 करोड़ रुपये का घाटा

  • Posted on: 10 August 2018
  • By: admin
नयी दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र के देना बैंक को जून में समाप्त पहली तिमाही में 721.71 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। डूबे कर्ज (एनपीए) में उछाल से उसे घाटा हुआ। पिछले वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में उसे 132.65 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। बैंक ने शेयर बाजार को दी जानकारी में कहा कि अलोच्य तिमाही में उसकी कुल आय 8 प्रतिशत गिरकर 2,410.01 करोड़ रुपये रह गयी। एक वर्ष पहले की इसी तिमाही में आय 2,620.28 करोड़ रुपये थी।
वहीं, ब्याज से आय भी 2,382.99 करोड़ रुपये से गिरकर 2,248.62 करोड़ रुपये रह गयी। अप्रैल-जून तिमाही में, बैंक का सकल एनपीए या डूबा कर्ज सकल कर्ज का 22.69 प्रतिशत रहा, जो एक वर्ष पहले की इसी अवधि में यह 17.37 प्रतिशत था। मूल्य के आधार पर 12,994.16 करोड़ से बढ़कर 15,866.11 करोड़ रुपये हो गया।
हालांकि, बैंक का शुद्ध एनपीए 11.22 प्रतिशत (7,797.16 करोड़ रुपये) से गिरकर 11.04 प्रतिशत (5,704.31 करोड़ रुपये) रहा। जून तिमाही में डूबे कर्ज के लिये प्रावधान भी 2017-18 में 434.58 करोड़ रुपये से बढ़कर 2018-19 में 1,244.16 करोड़ रुपये हो गया। इस दौरान, कुल प्रावधान और आकस्मिक व्यय 522.48 करोड़ रुपये से 1,115.75 करोड़ रुपये हो गया।
Category: