उत्तर प्रदेश में पतंजलि फूड पार्क निरस्त

  • Posted on: 10 June 2018
  • By: admin

नोएडा। योगगुरु बाबा रामदेव को योगी सरकार से बड़ा झटका लगा है। ग्रेटर नोएडा में मेगा फूड पार्क के लिए दी गई जमीन को रद्द कर दिया गया है। ऐसे में अब पतंजलि फूड पार्क को किसी दूसरे राज्य में शिफ्ट करना होगा। हालांकि इस फैसले सेउत्तर प्रदेश के करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीदें भी खत्म हो गई। आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट कर जमीन रद्द होने की पुष्टि की गई। योगगुरु बाबा रामदेव के नेतृत्व वाले पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने प्रदेश में प्रस्तावित पतंजलि फूड पार्क को अब कहीं और शिफ्ट करने की बात कही है।
आचार्य बालकृष्ण ने जानकारी दी है कि ग्रेटर नोएडा में फूड पार्क को निरस्त कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का रवैया बेहद निराशाजनक है और इससे किसानों की स्थिति नहीं सुधर सकती है। उन्होंने इसकी सूचना मिलने की जानकारी देते हुए एक ट्वीट भी किया। पतंजलि आयुर्वेद के मैनेजिंग डायरेक्टर और पतंजलि योगपीठ के सह-संस्थापक आचार्य बालकृष्ण नेकहा, प्रदेश सरकार के निराशाजनक रवेये को देखते हुए हम उत्तर-प्रदेश में प्रस्तावित फूड पार्क को शिफ्ट कर रहे हैं। इससे राज्य के किसानों की स्थिति में कोई सुधार नहीं होने वाला है। 2016 में अखिलेश यादव के मुख्यमंत्री रहते हुए नोएडा में यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में पतंजलि फूड पार्क का शिलान्यास किया गया था। उस वक्त दावा किया गया था कि यह फूड पार्क शुरू होने से लगभग 10,000 लोगों को नौकरी मिल जाएगी।

Category: