आर्थिक वृद्धि 7.3 प्रतिशत रहने का अनुमान

  • Posted on: 30 April 2012
  • By: poonam

 

मुंबई। रिजर्व बैंक ने उच्च आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर लौटने के लिये आधारभूत परियोजनाओं, उर्जा, खनिज और श्रम क्षेत्र में आने वाली अड़चनों को दूर करने पर जोर देते हुये कहा है कि चालू वित्त वर्ष में कुल मिलाकर घरेलू स्तर पर आर्थिक परिदृश्य पिछले साल के मुकाबले कुछ बेहतर रहेगा और 7.3 प्रतिशत आर्थिक वृद्धि रहने का अनुमान है। 
बैंक की जारी वर्ष 2012.13 की मौद्रिक एवं ऋण नीति में कहा गया है कि वित्त वर्ष में सामान्य मानसून, कृषि क्षेत्र की वृद्धि मौजूदा रुझान के स्तर पर बने रहने और उद्योगों का प्रदर्शन पिछले साल के मुकाबले बेहतर रहने की उम्मीद के साथ यह उम्मीद की जाती है कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में न्यूनतम 7.3 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की होगी। बैंक ने कहा है कि अर्थव्यवस्था को पूरी क्षमता के साथ आगे बढ़ाने के लिये इन क्षेत्रों के समक्ष आने वाली अड़चनों पर ध्यान देना जरुरी है।
नीति में कहा गया है कि आर्थिक वृद्धि और मुद्रास्फीति के हाल के रुझान से यह पता चलता है कि संकट से पहले जिस ऊंचाई पर आर्थिक वृद्धि पहुंची थी।
 
Category: