आरएफआईडी टैग लगने के बाद टोल से 3 सेकेंड में निकल जाएंगे वाहन

  • Posted on: 25 August 2019
  • By: admin
नई दिल्ली। कई समय सीमा गुजरने के बाद आखिरकार दिल्ली आने-जाने वाले व्यावसायिक वाहनों के लिए रेडियो फ्रिक्वेंसी आईडेंटिटी (आरएफआईडी) टैग सिस्टम शुरू हो गया। टैग लगाने वाली कंपनी और दक्षिणी निगम का दावा है कि वाहन पर आरएफआईडी टैग लगा होने पर टोल प्लाजा पर तीन सेकेंड से अधिक का समय नहीं लगेगा। अभी कम से कम 20 से 25 सेकेंड लगते हैं।
23 अगस्त रात 12 बजे से दिल्ली में व्यावसायिक वाहनों के लिए बिना आरएफआईडी टैग प्रवेश करना वर्जित हो गया है। कोई भी व्यावसायिक वाहन अगर बिना आरएफआईडी टैग के दिल्ली में प्रवेश करता है तो उससे दोगुना निगम टोल और पर्यावरण सेस लिया जाएगा। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के मोची बाग स्थित समुदाय केंद्र में आरएफआईडी टैग वाले टोल प्लाजा पर नजर रखने के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है।
दक्षिणी निगम के अतिरिक्त आयुक्त रणधीर सहाय ने शुक्रवार को बताया कि निगम की ओर से सभी तैयारियों पूरी कर ली गई हैं। अधिक से अधिक संख्या में वाहनों पर टैग लगाए जा रहे हैं। टैग लगवाने के बाद किसी भी व्यावसायिक वाहन को तीन सेकंड से अधिक समय टोल प्लाजा को पार करने में नहीं लगेगा। इस प्रणाली से टोल प्लाजा से बिना रुके वाणिज्यिक वाहनों का दिल्ली में प्रवेश सहित कई फायदे होंगे।
एप से रिचार्ज कर सकेंगे
एमसीडी टोल एप की सहायता से वाहन चालक अपना टैग रिचार्ज करा सकेंगे। इसके अतिरिक्त बड़े व्यावसायिक वाहन ऑपरेटरों के लिए आरएफआइडी सिस्टम लगाने वाली कंपनी की ओर से उनके स्थान पर जाकर भी टैग लगाए जाने की सुविधा दी जाएगी। वाहन चालकों को अपना नंबर पंजीकृत कराने के बाद मोबाइल प्ले स्टोर से एमसीडी टोल एप डाउनलोड करना होगा।
टोल प्लाजा अत्याधुनिक कैमरे लगे
टोल प्लाजा पर गतिविधियों की तस्वीर लेने के लिए बड़ी संख्या में पैन टिल्ट जूम (पीटीजे) और एलपीआइसी कैमरा लगाए गए हैं। पीटीजेड कैमरा से अंधेरे में 150 वर्गमीटर इलाके की फोटो ली जा सकती है। जबकि, दिन के समय में लगभग 1 से 2 किलोमीटर क्षेत्र की तस्वीरें ली जा सकती हैं। टोल प्लाजा बूथ पर भी कैमरे लगाए गए हैं। ये कैमरे गतिविधियों के अलावा वहां की बातचीत भी रिकॉर्ड करते हैं। ये सिस्टम आरएफआइडी टैग लगे उन वाहनों को भी अस्थायी रूप से ब्लैक लिस्ट करेगा जिनमें रिचार्ज की पर्याप्त राशि नहीं है।
दिल्ली में रोजाना आने वाले कुल वाहनों की संख्या
प्रवेश करते हैं-6,19,946
बाहर निकलते हैं-6,13,797
दिल्ली में रोजाना आने वाले मालवाहक वाहन
प्रवेश करते हैं-48,869
बाहर निकलते हैं-51,476
टैग न होने पर इतना जुर्माना
5200 रुपये प्रति प्रवेश व दोगुना निगम टोल पहले सप्ताह के लिए
10,400 रुपये प्रति प्रवेश व चार गुना निगम टोल दूसरे सप्ताह के लिए
15,600 रुपये प्रति प्रवेश व छह गुना निगम टोल तीसरे सप्ताह के लिए
दिल्ली सप्ताह बाद दिल्ली में एंट्री होगी बंद
निगम सूत्रों का कहना है कि तीन सप्ताह बाद बिना आरएफआईडी टैग वाले व्यवसायिक वाहनों को दिल्ली में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। माना जा रहा है कि निगम की ओर से टैग लगाने की सुविधा आने वाले तीन सप्ताह और चलाई जाएगी। बाद में वाहन में टैग न लगा होने की स्थिति में तीन सप्ताह बाद उनका दिल्ली में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया जाएगा। इसका सबसे अधिक प्रभाव ऐप बेस्ड टैक्सियों पर पड़ सकता है। दिल्ली में करीब 80 हजार व्यवसायिक वाहन विभिन्न बॉर्डरों से प्रवेश करते हैं। 
Category: