रिजर्व बैंक ने नीतिगत दरों में बदलाव नहीं किया

  • Posted on: 29 June 2012
  • By: gaurav

मुंबई। बाजार की उम्मीदों के विपरीत रिजर्व बैंक ने आज अपनी मौद्रिक नीति की मध्य तिमाही समीक्षा में अपनी नीतिगत दरों में आज कोई बदलाव नहीं किया। केंद्रीय बैंक ने महंगाई के दबाव तथा वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता के मद्देनजर ब्याज दरों को फिलहाल पूर्व के स्तर पर बरकरार रखा जबकि बाजार यह मान कर चल रहा था कि घरेलू अर्थव्यवस्था, खास कर औद्योगिक गतिविधियों में गिरावट को थामने के लिए वह रेपो दर को कम से कम 0.25 प्रतिशत तो कम करेगा ही। रेपो दर वह ब्याज दर है जिस पर रिजर्व बैंक वाणिज्यिक बैंकों को एकाध दिन के लिए नकदी उपलब्ध कराता है। इसके घटने बढाने से उनके धन की लागत प्रभावित होती है। रेपो दर 8 प्रतिशत

भारत 10 अरब डॉलर की राशि फिलहाल नहीं देगा

  • Posted on: 29 June 2012
  • By: gaurav

लॉस काबोस। भारत वैश्विक आर्थिक स्थिति में सुधार होने पर, ऋण संकट में फंसे यूरो क्षेत्र की मदद के लिये अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष को दी जाने वाली 10 अरब डालर (55,000 करोड़़ रुपये) की राशि शायद न दे। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बयान में कहा, ''हमने जो राशि देने की बात कही है, वह पूरी तरह नकद रूप में है। अर्थात अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने मदद देने वाले देशों को आश्वस्त किया है कि जब कभी जरूरत पड़ेगी, कोष उपलब्ध होगा। इसीलिए यह हमारे भंडार का हिस्सा है।ÓÓ अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि स्थिति अभी ऐसी नहीं आयी है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जी-20 शिखर सम्मेलन में कल 10 अरब डालर के योगदान

Tags: 

धार्मिक, ऐतिहासिक स्थलों की सुरक्षा पर ध्यान: अखिलेश

  • Posted on: 29 June 2012
  • By: gaurav

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज विधानसभा में बताया कि प्रदेश के प्रमुख ऐतिहासिक स्मारकों एवं प्रमुख धार्मिक स्थलों पर आये दिन हो रही लूट को रोकने के लिए स्थानीय पुलिस द्वारा आवश्यकतानुसार पुलिस बल लगाया जा रहा है।

यूरो संकट भारत के लिये चिंता का विषय: मोंटेक

  • Posted on: 29 June 2012
  • By: gaurav

लॉस काबोस। योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने कहा है कि भारत की आर्थिक वृद्धि दर में कमी के कारण आर्थिक समस्या बेकाबू नहीं हुई है है लेकिन अगर यूरो क्षेत्र संकट का तत्काल समाधान नहीं हुआ तथा यूरोप में वित्तीय स्थिरता बहाल नहीं हुई तो स्थिति बिगड़ सकती है। विकसित एवं विकासशील देशों के संगठन जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिये यहां आये अहलूवालिया ने कहा कि अगर इस साल भारत की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में सात प्रतिशत के करीब रही तो हमारा देश 'भाग्यशालीÓ होगा। शिखर बैठक में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत विश्व के अन्य नेता भाग ले रहे हैं। उल्लेखनीय है

आरबीआई के निर्णय पर मुद्रास्फीति का असर:प्रणव

  • Posted on: 29 June 2012
  • By: gaurav

नयी दिल्ली। वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने आज कहा कि नीतिगत ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखने का फैसला करते हुए भारतीय रिजर्व बैंक के दिमाग में संभवत: मुद्रास्फीति की चिंता हावी थी। मुखर्जी ने केंद्रीय बैंक द्वारा वर्ष 2012-13 की मौद्रिक नीति की मध्य तिमाही समीक्षा में आज अपनाए गए रुख पर कहा कि मध्य तिमाही समीक्षा से पहले आरबीआई गवर्नर का उनसे संपर्क करना जरूरी नहीं था। वित्त मंत्री ने यहां संवाददाताओं से कहा कि आरबीआई की निर्णय प्रक्रिया पर मुद्रास्फीति के आंकड़ों का असर रहा होगा।

Tags: 

विकसित देशों का दोहरा रवैया: मनमोहन सिंह

  • Posted on: 29 June 2012
  • By: gaurav

रियो डी जनेरियो। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कार्बन उत्सर्जन में कटौती के लिए विकासशील देशों की मदद की खातिर अतिरिक्त वित्त और प्रौद्योगिकी मुहैया कराने के मुद्दे पर आज विकसित देशों की आलोचना की और कहा कि उनकी मदद के संबंध में बहुत कम प्रमाण हैं। सिंह ने सतत जीवन के लिए नए रास्ते खोजने की भी जोरदार वकालत की क्योंकि औद्योगिक देशों में खपत की मौजूदा पद्धति टिकाऊ नहीं है। सम्मेलन में अंतिम रूप से दिए गए मसौदा बयान से स्पष्ट होता है कि विकसित देश गरीब अर्थव्यवस्थाओं के स्थायी विकास की खातिर वित्त पोषण के बारे में कोई आंकड़े तय करने में नाकाम रहे हैं। समूह 77 और चीन ने प्रति वर्ष 30 अरब डालर की

अब और स्मार्ट होगा गूगल सर्च इंजन

  • Posted on: 12 June 2012
  • By: admin

वाशिंगटन। सर्च इंजन गूगल वैसे तो हर जानकारी लोगों को मुहैया करवाता है, लेकिन अब यह और भी स्मार्ट होने जा रहा है। गूगल की नई एप्लिकेशन द नॉलेज ग्राफ की मदद से अब महज एक क्लिक में किसी के बारे में और भी ज्यादा सटीक और विस्तृत जानकारी मिल सकेगी।
यह बदलाव उन शिकायतों के बाद किया जा रहा है, जिसमें बार-बार कहा जा रहा था कि गूगल से जानकारी तो मिलती है, लेकिन वह विस्तृत या ज्यादा सटीक नहीं होती। यूजर्स जल्द द नॉलेज ग्राफ पर काम कर रहेंगे।

नेट और फेसबुक में रंग गए युवा

  • Posted on: 12 June 2012
  • By: admin

भारतीय युवाओं में तकनीक के प्रति दिवानगी बहुत ज्यादा हो गई है। भारत में 85 फीसदी युवा फेसबुक का इस्तेमाल करते हैं, जबकि 79 फीसदी युवाओं के पास मोबाइल है। 40 फीसदी युवा मोबाइल फोन पर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं। भारत के युवा अब इंटरनेट के बिना रहने की सोच भी नहीं सकते हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट्स फेसबुक और मोबाइल के बिना उन्हें जिंदगी अधूरी लगती है। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) द्वारा कराए गए एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि एक दूसरे से संपर्क में रहने के लिए फेसबुक और मोबाइल फोन पर इंटरनेट का इस्तेमाल इंडियन यूथ में तेजी से बढ़ा है। देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर निर्यातक टीसीएस के वर्ष

सोशल नेटवर्किंग से टूटती रिश्तों की डोर

  • Posted on: 12 June 2012
  • By: admin

वैसे तो भारत में अनेक सोशाल नेटवर्किंग साइट्स चल रही हैं, पर उनमें से लोकप्रिय फेसबुक, आरकुट और ट्विटर को ही कहा जा सकता है। जवान, बूढ़े या बच्चे सभी आज इसके दीवाने हैं। युवाओं के बीच इसकी दीवानगी व लोकप्रियता अद्भुत है। विश्व को एक गांव में तब्दील करने में इसकी भूमिका महत्वपूर्ण रही है। आज आप एक छोटे से गांव में रहकर भी अपने को अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से जोड़कर रखने की कल्पना को साकार कर सकते हैं। पर इन फायदों के साथ अब ये सोशल नेटवर्किंग साइट्स लोगों के करीबी रिश्तों पर भारी पड़ रहे हैं।
गिरफ्त में हैं सभी

कार खरीदने के फैसले में इंटरनेट की खूब मदद ले रहे हैं भारतीय

  • Posted on: 12 June 2012
  • By: admin

टेक्नोलॉजी के इस दौर में अपने किसी भी फैसले के लिए लोग इंटरनेट की जमकर मदद ले रहे हैं। देश में इस समय 12 करोड़ से भी ज्यादा इंटरनेट उपभोक्ता हैं।
एक ताजा अध्ययन में यह बात सामने आई है कि कार खरीदने से पहले करीब 50 फीसदी खरीदार अपनी पसंद के बारे में इंटरनेट से जानकारी जुटाते हैं। यही नहीं उनमें से आधे लोग तो इंटरनेट पर मिली जानकारी के मुताबिक अपनी पसंद बदल भी देते हैं। गूगल इंडिया के लिए नीलसन की ओर से देश में मौजूद दिग्गज कार कंपनियों के शोरूम पर किए गए ऑफलाइन अध्ययन में पता चला कि डीलर के यहां आने से पहले प्रत्येक दो में से एक ग्राहक ने कार के बारे में ऑनलाइन रिसर्च की है।

Pages