अंतरराज्यीय परिषद की स्थायी समिति का पुनर्गठन

  • Posted on: 13 December 2012
  • By: admin

जयपुर। प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की अनुमति से गृहमंत्री श्री सुशील कुमार शिंदे की अध्यक्षता में गठित अंतरराज्यीय परिषद की स्थायी समिति का पुनर्गठन किया गया है। परिषद की स्थायी समिति के सदस्यों में अन्य सदस्यों के साथ ही राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत भी शामिल हंै।
परिषद के सदस्यों में कृषि और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री श्री शरद पवार, वित्त मंत्री श्री पी.चिदम्बरम, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री श्री वीरप्पा मोईली, रेल मंत्री श्री पवन कुमार बंसल, रसायन, उर्वरक मंत्री श्री एम.के. अलागिरी और कानून एवं न्याय मंत्री श्री अश्विनी कुमार शामिल हैं।  

पंजाब कृषि विवि ने मनमोहन को दी मानद डॉक्टरेट

  • Posted on: 13 December 2012
  • By: admin

लुधियाना 8 दिसंबर। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को आज पंजाब कृषि विश्वविद्यालय (पीएयू) की ओर से डाक्ट्रेट की मानद् उपाधि से सम्मानित किया गया उसके साथ दिये गए प्रशस्ति पत्र में उन्हें 'देश में आर्थिक सुधारों का शिल्पकारÓ बताया गया है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा तीन अन्य लोगों को भी मानद् डिग्रियां प्रदान की गईं जिनमें पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, आईसीएआर के पूर्व महानिदेशक आर एस परोदा और जानेमाने मृदा वैज्ञानिक जसवंत सिंह कंवर शामिल हैं। इन लोगों को विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयंती कार्यक्रम के तहत आयोजित विशेष दीक्षांत समारोह में यह सम्मान प्रदान किये गए।

चार साल बाद दिग्विजय व ज्योतिरादित्य आयेंगे एक मंच पर

  • Posted on: 13 December 2012
  • By: admin

गुना (मप्र)। जिले में पिछले चार वष्रो के अंतराल के बाद कल यहां कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह तथा केन्द्रीय उर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया एक मंच पर दिखायी देंगे। लगभग 4 वर्षों के अंतराल के बाद प्रदेश कांग्रेस के दो दिग्गज दिग्विजय सिंह तथा ज्योतिरादित्य सिंधिया कल यहां दो आयोजनों में एक साथ एक ही मंच पर दिखाई देंगे। इन दोनों आयोजनों में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व सांसद नारायण सिंह आमलाबे भी साथ रहेंगे। साक्षी मेडीकल कालेज के शिलान्यास आयोजन में प्रदेश के मंत्री अनूप मिश्रा के भी मौजूद रहने की संभावना है, जबकि दूसरा आयोजन जिला कांग्रेस भवन

सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के जिला अधिकारियों के साथ बैठक:पत्रकारों-साहित्यकारों, लेखकों सहित आमजन की अपेक्षाओं के केन्द बिन्दु बनें राज्य सरकार की योजनाओं एवं उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाएं-मुख्यमंत्री

  • Posted on: 13 December 2012
  • By: admin

जयपुर। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा है कि सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग का काम लीक से हटकर है तथा इस विभाग के जिला अधिकारियों की अपनी एक विशिष्ट पहचान है। उन्होंने आह्वान किया कि जिलों में कार्यरत सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी पत्रकारों-साहित्यकारों, लेखकों सहित आमजन की आशाओं और अपेक्षाओं का केन्द्र बिन्दु बनें तथा राज्य सरकार की चार साल की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाएं।

संसद में नैतिक बल नहीं, संख्या अहम: जायसवाल

  • Posted on: 13 December 2012
  • By: admin

कानपुर। केन्द्रीय कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने आज कहा कि संसद में संख्या बल चलता है और नैतिक बल का कोई स्थान नहीं है। पूरी दूनिया में एफडीआई नैतिक बल के आधार पर नहीं बल्कि संख्या बल के आधार पर लागू है फिर वह चाहे चीन हो या कोई अन्य देश हो। संसद में विपक्षी पार्टिया विरोध के नाम पर नाटक कर रही थी तो उन्होंने कहा, ''मेरे बचपन में एक कहावत थी, 'पांडे जी पछतायेंगे वहीं चैन की खायेंगे।Ó जो राज्य आज अपने यहां एफडीआई का विरोध कर रहे है। आने वाले पांच सालों में अपने यहां इसे लागू करेंगे। बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा राज्यसभा में कांग्रेस को दिये गये समर्थन की बाबत जायसवाल से पूछा गया कि क्या

गुजरात सरकार हर क्षेत्र में नाकाम रही: सोनिया

  • Posted on: 13 December 2012
  • By: admin

मांडवी । कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास संबंधी दावों पर निराशा जताते हुए राज्य सरकार पर गरीबों के कल्याण को पूरी तरह से नजरअंदाज करने का आरोप लगाया।
सोनिया ने आश्चर्य जताया कि राज्य सरकार को केन्द्र से मिला धन आखिर कहां गायब हो गया। चुनाव सभा को संबोधित करते हुए यहां सोनिया ने कहा कि राज्य सरकार लगभग हर क्षेत्र में नाकाम रही और यहां तक कि राज्य में कानून व्यवस्था अच्छी नहीं है।

अच्छी पहल

  • Posted on: 12 December 2012
  • By: admin

रैलियों व जुलूसों से शिक्षण संस्थान को मुक्ति दिलाने की पहल अच्छी सोच है। छात्र, शिक्षक और अभिभावक बहुत पहले से ऐसा चाहते रहे हैं और इसकी मांग भी जब-तब उठती रही है। सर्वप्रथम कलकत्ता विश्वविद्यालय ने इस दिशा में कदम उठाने की घोषणा की है। यह सही है कि विश्वविद्यालय में जब क्लास चल रही हो, तो जुलूस व सभा नहीं होनी चाहिए। इसीलिए विश्वविद्यालय प्रबंधन ने जुलूस व सभा पर प्रतिबंध लगाने का मन बनाया है। यह जरूर है कि राजनीति करने वाले लोकतांत्रिक अधिकारों का हवाला देकर इसका विरोध करेंगे, परंतु यह सोचने की जरूरत है कि विश्वविद्यालय शिक्षा के लिए है न की राजनीति के लिए?

महानगरों की सर्द रातों का दर्द

  • Posted on: 12 December 2012
  • By: admin

इन दिनों रात में ठीक-ठाक ठंड पड़ रही है, जरा किसी रात दिल्ली की सड़कों पर चक्कर लगाकर देखें। फुटपाथों और फ्लाई ओवरों की ओट में रात काटते हजारों लोग दिल्ली की खुशहाली के दावों की पोल खोलते दिखेंगे। दिल्ली में हर साल भूख, लाचारी, बीमारी से कोई तीन हजार ऐसे लोग गुमनामी की मौत मर जाते हैं, जिनके सिर पर छत नहीं होती। 30 नवंबर 2011 को दिल्ली हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीष ए.के.

अति सक्रियता का उदाहरण

  • Posted on: 12 December 2012
  • By: admin

आखिरकार नकद सब्सिडी योजना पर नाराज निर्वाचन आयोग ने अपना फैसला सुनाते हुए केंद्र सरकार को यह हिदायत दी कि जब तक चुनाव संबंधी आचार संहिता लागू है तब तक गुजरात और हिमाचल में इस योजना का क्रियान्वयन स्थगित रखा जाए। निर्वाचन आयोग इस नतीजे पर पहुंचा है कि इन दोनों राज्यों में विधानसभा चुनावों की प्रक्रिया के दौरान नकद सब्सिडी योजना की घोषणा कर केंद्र सरकार ने आचार संहिता की भावना के खिलाफ कार्य किया। उसके अनुसार, यह कदम गैरजरूरी था और इससे बचा जा सकता था। पता नहीं क्यों, निर्वाचन आयोग केंद्र सरकार के इस स्पष्टीकरण से संतुष्ट नहीं हुआ कि इस योजना की घोषणा पहले ही की जा चुकी थी और अब केवल इसका क्र

पहले समाज बदले अपना नजरिया

  • Posted on: 12 December 2012
  • By: admin

एक मामले की सुनवाई करते हुए देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं से छेडख़ानी की घटनाओं को शर्मनाक बताते हुए इन्हें रोकने के लिए सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के लिए कुछ महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश जारी किए। अदालत का कहना था कि सरकारें सुनिश्चित करें कि सभी बस स्टॉप, रेलवे स्टेशन, मॉल, समुद्री तट, पूजास्थलों जैसे तमाम सार्वजनिक जगहों पर सादी वर्दी में महिला पुलिसकर्मी तैनात हों। भीड़भाड़ वाली जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं। तीन महीने के भीतर शहरों में महिला हेल्पलाइन शुरू हो और बस में छेडख़ानी के बाद अगर वाहन को तत्काल पुलिस थाने नहीं ले जाया जाता है तो प्रशासन उसका परमिट रद

Pages